सिविल इंजीनियर (Civil Engineer) kaise bane

सिविल इंजीनियर (civil engineering) कैसे बने, इसकी योग्यता क्या है, सैलरी आदि इस कोर्स की पूरी जानकारी | –

हेलो दोस्तों आप का स्वागत है, आज हम बात करेंगे | कि सिविल इंजीनियर (civil engineering) कैसे बने, civil engineering की योग्यता क्या है, सिविल इंजीनियर की सैलरी कितनी होती है आदि इस कोर्स से जुडी हुई सभी जानकारी | सिविल इंजीनियर एक प्रोफेशनल कोर्स है | इस कोर्स को करके आप अपने अच्छे करियर का निर्माण आसानी से कर सकते है | सिविल इंजीनियर कोर्स में आपको पाइप लाइन, रोड का निर्माण करना, नक्शा तैयार करना आदि बाते सिखाई जाती है |

सिविल इंजीनियरिंग कोर्स में आपको बताया जाता है, कि कैसे घर का नक्शा तैयार करे | कितने बड़े पिलोट में कितना बड़ा घर बन सकता है, उस घर में कितने कमरे बन सकते है | घर में ड्राइंग रूम कहाँ बनेंगा, हॉल कहाँ बनेंगा | पूरा नक्शा बनाकर | फिर सिविल इंजीनियर ही सीमेंट, सरिया आदि घर का सामान मांगकर अपनी देख-रेख में ही पूरा घर अच्छे से बनवाता है | जिसका वो चार्ज लेता है | इसमें आपको घर का, रोड का, हाईवे का आदि जगह बनाने का प्रोजेक्ट मिलता है | जिसके आपको अच्छे खासे पैसे मिल जाते है | और अनुभव के साथ आपको ज्यादा और बड़े-बड़े प्रोजेक्ट मिलने शुरू हो जाते है | 

सिविल इंजीनियर (civil engineering) किसे कहते है | –

सिविल इंजीनियर (civil engineering) बनने के लिए आप को सिविल इंजीनियरिंग कोर्स करना पड़ता है | सिविल इंजीनियरिंग कोर्स करके आप अपना बहुत ही बढ़िया और अच्छा करियर बना सकते है | इस कोर्स को करने के बाद आपको प्रोजेक्ट मिलते है | रोड बनाने के, घर के, हाईवे के, फ्लाईओवर के, हवाई अड्डे के आदि सिविल इंजीनियरिंग कोर्स करके आपको इन प्रोजेक्ट में देखना होता है |

कि कैसे पुल, हाईवे या घर बनेंगे | कितना आकार का होंगा |  किस प्रकार बनेंगे, क्या-क्या सामना आयेंगा | कितना सीमेंट, कितना बदरपुर, कितना रेत आयेंगा | और किस प्रकार यह सामान उपयोग होंगा | और यह पुरे प्रोजेक्ट का काम सिविल इंजीनियर की देख-रेख में होता है | 

सिविल इंजीनियर (civil engineering) कैसे बने |-

सिविल इंजीनियर (civil engineering) बनने के लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ेगी और ये काम बहुत ही जिम्मेदारी का होता है | आइये अब हम बात करते है | कि सिविल इंजीनियर कैसे बने | 

1. कक्षा 10 वी के बाद डिप्लोमा करे |- अगर आपको कक्षा 10 वी के बाद सिविल इंजीनियर बनना है, तो कक्षा 10 वी के बाद पॉलिटेक्निक कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग डिप्लोमा कोर्स करना होंगा | इस डिप्लोमा को पूरा करने में आपको 3 वर्ष का समय लगेंगा | इस डिप्लोमा कोर्स को करके आप Junior Civil Engineer बन जाओंगे | 

2. कक्षा 12 वी PCM विषय से पास करें |– अगर आप को सिविल इंजीनियर बनना है, तो आपको 12 वी कक्षा PCM विषय से यानि कि Physics, Chemistry, Math से पास करनी होंगी | आपकी कक्षा 12 वी में कम से कम 60% अंक आने अनिवार्य है | तभी आप इस कोर्स के सिविल इंजीनियरिंग के एंट्रेंस एग्जाम देने के योग्य है | 

Note- यह भी पड़े 

3. एंट्रेंस एग्जाम को पास/क्लियर करे |– आपको कक्षा 12 वी के बाद सिविल इंजीनियरिंग बनने के लिए एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होंगा | इस कोर्स में एडमिशन के लिए आपको JEE, MAIN, ALEEE, IIT जैसे बड़े-बड़े एंट्रेंस एग्जाम में से कोई एक क्लियर करना पड़ता है, वो भी खूब अच्छे नंबर से | यह एंट्रेंस एग्जाम देश भर में आयोजित होता है, इसलिए इस एग्जाम में पुरे देश में से लोग समिलित होते है | और यह एग्जाम इसलिए थोड़ा मुश्किल होता है और इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए आपको खूब मेहनत करनी पड़ेंगी | इस एंट्रेंस एग्जाम के नंबर के आधार पर आपका कॉलेज में एडमिशन होता है | अगर आपके नंबर एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे आते है, तो आपको अच्छे कॉलेज में एडमिशन मिल जायेंगा | और बाकि कॉलेज में एडमिशन आपके नंबर के अनुसार तय होंगे | 

4. अपनी बैचलर डिग्री पूरी करे |– जब आप एंट्रेंस एग्जाम देकर सिविल इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन पा लेते है, तब आपको सिविल इंजीनियर बनने के लिए B.Tech की डिग्री की आवस्यकता होती है | यह डिग्री एक बैचलर डिग्री कोर्स है | इस बैचलर डिग्री को पूरा करने में आपको 4 वर्ष का समय लगता है | इस बैचलर डिग्री को पाकर आप सीनियर सिविल इंजीनियर बन सकते है | 

5. सिविल इंजीनियरिंग (civil engineering) की डिग्री प्राप्त करने के बाद इंटर्नशिप करे |– इस कोर्स को करने के बाद आप को इंटर्नशिप अवश्य करनी चाहिए, इंटर्नशिप में आपने सिविल इंजीनियरिंग के कोर्स में जो सीखा है, वो आपको यहाँ प्रैक्टिकल सिखाया जाता है, जिससे आपका अनुभव बढ़ता है | इंटर्नशिप करने से आपको नक्शा बनाने का, घर कैसे बनाये, कितना सामान आयेंगा आदि बातो का आपको अनुभव हो जाता है, जिससे जब आप इंटर्नशिप के बाद जॉब के लिए अप्लाई करते है, तो आपको अच्छी जॉब बहुत ही आसानी से मिल जाती है | 

6. इंटर्नशिप के बाद आप अपने लाइसेंस और सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई करे |– जब आपको सिविल इंजीनियरिंग का अनुभव हो जाता है | तो आप सिविल इंजीनियरिंग का लाइसेंस के लिए अप्लाई कर सकते है | इस लाइसेंस के लिए आपको सिविल इंजीनियरिंग का खूब अच्छा-खासा अनुभव होना चाहिए | इस अनुभव के आधार पर ही आपको लाइसेंस  मिलता है | और लाइसेंस मिलने के बाद आप एक प्रमणित सिविल इंजीनियर बन जाते हो |  

सिविल इंजीनियरिंग (civil engineering) के क्षेत्र में करियर कैसे बनाये | –

सिविल इंजीनियरिंग (civil engineering) का क्षेत्र आजकल बहुत ही बड़ा और बढ़िया हो गया है, इस क्षेत्र में आपके पास करियर बनाने के अपार अवसर होते है | क्युकी आजकल हमारा देश खूब विकास कर रहा है | रोज़ नई-नई जगह नए-नए बिल्डिंग का निर्माण हो रहा है | रोज़ नई-नई कंपनी बन रही है | और इन बिल्डिंग और कंपनी के निर्माण में सिविल इंजीनियर की बहुत ही अहम् भूमिका होती है |

जब आप सिविल इंजीनियरिंग कोर्स करके खूब अच्छा-खासा अनुभव प्राप्त कर लेते है | और आपको लाइसेंस मिल जाता है, तो आपको फिर बड़े-बड़े प्रोजेक्ट भी मिल जाते है | इस क्षेत्र में आप जॉब प्राइवेट और सरकारी दोनों जगह में से कहीं भी पा सकते है | 

सिविल इंजीनियर (civil engineering) की योग्यताये | –

  1. सिविल इंजीनियर (civil engineering) कोर्स करने के लिए आपको 12 वी कक्षा PCM (Physics, Chemistry, Math) से पास करनी अनिवार्य है | 
  2. सिविल इंजीनियर कोर्स करने के लिए आप कक्षा 10 वी के बाद या कक्षा 12 वी के बाद Polytechnic diploma in Civil Engineer भी कर सकते है | 
  3. सिविल इंजीनियर बनने के लिए आप को B.Tech , B.E करना अनिवार्य है | और M.Tech कोर्स करने के लिए आपको B.Tech कोर्स करना जरूरी है | B.Tech कोर्स करने के लिए आपको 4 वर्ष का समय लगेंगा | 
  4. सिविल इंजीनियर बनने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना आवश्यक है | 

Note :- अगर आप जाना चाहते है |

सिविल इंजीनियर (civil engineering) के विषय कौन-कौन से है | –

  1. Hydraulic Engineering
  2. Coastal Engineering
  3. Outdoor Plant Engineering
  4. Urban Engineering
  5. Earthquake Engineering
  6. Material Engineering
  7. Structural Engineering
  8. Environmental Engineering
  9. Geo Technical Engineering
  10. Forensic Engineering
  11. Construction Engineering
  12. Transportation Engineering

सिविल इंजीनियर (civil engineering) बनने के लिए व्यक्ति में क्या-क्या गुण होने चाहिए | –

सिविल इंजीनियर (civil engineering) बनने के लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती है, और ये काम बहुत ही ज्यादा जिम्मेदारी का होता है | एक सिविल इंजीनियर की सोचने की क्षमता अच्छी होनी चाहिए, उसमे दिमाग में नए-नए आईडिया आते रहने चाहिए, उसे लोगो के साथ मिलकर काम करना चाहिए, उसमे अपने काम के लिए खूब लगन होनी चाहिए, उसे कंप्यूटर का अच्छा-खासा ज्ञान होना चाहिए, उसका दिमाग बहुत तेज और नई-नई सोच (आईडिया) सोचने वाला होना चाहिए | और वह व्यक्ति बहुत मेहनती होना चाहिए | आदि खूबी एक सिविल इंजीनियर में होनी आवश्यक है | 

सिविल इंजीनियर (civil engineering) की सैलरी कितनी होती है |-

civil engineering कोर्स को करने के बाद आप अपने अच्छे करियर का निर्माण कर सकते है | इस कोर्स को करके आप अपने एक अच्छे और उज्जवल करियर का निर्माण आसानी से कर सकते है | इस कोर्स को करके आप खूब अच्छे-खासे पैसे कमा सकते है | और अपने भविष्य को अच्छा और उज्जवल बना सकते है | वैसे एक सिविल इंजीनियर की सैलरी शुरुवात में 15-20 हज़ार से 25-30 हज़ार प्रतिमाह तक हो सकती है | और जैसे-जैसे आपका अनुभव इस क्षेत्र में बढ़ता जायेंगा |

आपकी सैलरी भी उतनी  बढ़ती जाएँगी | आपको अच्छे खासे अनुभव के बाद की सैलरी कम से कम 30-40 हज़ार से लेकर 1.5-2 लाख तक आसानी से सैलरी मिल सकती है | और बाकि सैलरी आपके अनुभव, काम और काम आपकी जॉब के अनुसार तय होती है | 

प्रसिद्ध सिविल इंजीनियरिंग (civil engineering) कॉलेज लिस्ट | –

 आइये अब हम बात करते है, कि देशभर में कौन-कौन से प्रसिद्ध सिविल इंजीनियरिंग (civil engineering) कॉलेज है | जहाँ से आप सिविल इंजीनियरिंग कोर्स को पूरा कर सकते है | आइये अब हम उन सभी कॉलेज के नाम जानते है | जहाँ से आप सिविल इंजीनियरिंग कोर्स कर सकते है | 

  1. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रुड़की 
  2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी , मुंबई 
  3. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (B.I.T), रांची 
  4. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, अहमदाबाद 
  5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली 
  6. चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी 
  7. वीरमाता जीजाबाई टेक्निकल इंस्टिट्यूट, मुंबई 
  8. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, श्रीनगर 
  9. इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ़, अजमेर 
  10. सरदार पटेल कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग, मुंबई 
  11. गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, दिल्ली 
  12. गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, लखनऊ 
  13. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस, बेंगलुर 
  14. उस्मानिया यूनिवर्सिटी 
  15. दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली 
  16. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ कंस्ट्रक्शन मनाईन्ट एंड रिसर्च, नई दिल्ली 
  17. ग्रीन हिल्स इंजीनियरिंग कॉलेज, हिमाचल प्रदेश 
  18. तीर्थकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरदाबाद 
  19. कोयंबटूर इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, तमिलनाडु 
  20. गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, बरेली 
  21. गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, मुंबई 

FAQ

सिविल इंजीनियर (civil engineering) कैसे बने?

1. कक्षा 10 वी के बाद डिप्लोमा करे |
2. कक्षा 12 वी PCM विषय से पास करें |
3. एंट्रेंस एग्जाम को पास/क्लियर करे |
4. अपनी बैचलर डिग्री पूरी करे |
5. सिविल इंजीनियरिंग (civil engineering) की डिग्री प्राप्त करने के बाद इंटर्नशिप करे |
6. इंटर्नशिप के बाद आप अपने लाइसेंस और सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई करे |

एक सिविल इंजीनियर (civil engineering) का क्या काम होता है?

civil engineering कोर्स को करने के बाद आपको प्रोजेक्ट मिलते है | रोड बनाने के, घर के, हाईवे के, फ्लाईओवर के, हवाई अड्डे के आदि सिविल इंजीनियरिंग कोर्स करके आपको इन प्रोजेक्ट में देखना होता है | कि कैसे पुल, हाईवे या घर बनेंगे | कितना आकार का होंगा |  किस प्रकार बनेंगे, क्या-क्या सामना आयेंगा | कितना सीमेंट, कितना बदरपुर, कितना रेत आयेंगा | और किस प्रकार यह सामान उपयोग होंगा | और यह पुरे प्रोजेक्ट का काम सिविल इंजीनियर की देख-रेख में होता है | 

सिविल इंजीनियर (civil engineering) किसे कहते है?

सिविल इंजीनियर कोर्स को करके आप अपने अच्छे करियर का निर्माण आसानी से कर सकते है | सिविल इंजीनियर कोर्स में आपको पाइप लाइन, रोड का निर्माण करना, नक्शा तैयार करना आदि बाते सिखाई जाती है | सिविल इंजीनियरिंग कोर्स में आपको बताया जाता है, कि कैसे घर का नक्शा तैयार करे |

सिविल इंजीनियर (civil engineering) की सैलरी कितनी होती है?

एक सिविल इंजीनियर की सैलरी शुरुवात में 15-20 हज़ार से 25-30 हज़ार प्रतिमाह तक हो सकती है | और जैसे-जैसे आपका अनुभव इस क्षेत्र में बढ़ता जायेंगा | आपको अच्छे खासे अनुभव के बाद की सैलरी कम से कम 30-40 हज़ार से लेकर 1.5-2 लाख तक आसानी से सैलरी मिल सकती है | और बाकि सैलरी आपके अनुभव, काम और काम आपकी जॉब के अनुसार तय होती है | 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top