ISRO kya hai

ISRO क्या है, ISRO की स्थापना कब हुई थी | आदि ISRO से जुडी सभी और पूरी जानकारी हिंदी में |-

हेलो दोस्तों आप का स्वागत है, आज हम बात करेंगे | ISRO क्या है, ISRO की स्थापना कब हुई थी | आदि ISRO से जुडी सभी और पूरी जानकारी वो भी हिंदी में आज हम जानेंगे | आपने कभी न कभी और कही न कही ISRO का नाम अवश्य सुना या पढ़ा होंगा | में आज आपको ISRO क्या होता है, और ISRO से जुडी पूरी जानकारी दूंगा | वो भी हिंदी में | आजकल हमारा देश बहुत विकास कर रहा है, और हमारा देश अब अंतरिक्ष विज्ञानं के क्षेत्र में भी बहुत प्रगति और विकास कर रहा है |

रहा है, चाहे वह कोई सा भी क्षेत्र हो | इसी प्रकार हमारा देश अंतरिक्ष विज्ञानं के क्षेत्र में भी बहुत विकास कर रहा है | भारत ने कई अंतरिक्ष की पहेली को सुलझाया है | जिससे भारत देश का नाम पूरी दुनिया में हुआ है | और यह सब हुआ है, हमारे भारत देश की राष्टीय अंतरिक्ष संस्थान ISRO के द्वारा | ISRO ने अंतरिक्ष विज्ञानं की कई ऐसी पहेली सुलझाई है, जिसे सुलझाना बहुत कठिन था |

जिस वजह से हमारे भारत देश का नाम और भी ऊंचा हुआ है | और हमारे देश का सम्मान और भी बड़ा है | अगर आपको ISRO के बारे में और भी जानकारी इक्कठी करनी है, वो भी एक दम सही | तो जुड़े रहियें हमारे साथ | हम आज आपको ISRO से जुडी हुई सभी जानकारी और पूरी जानकारी देंगे, वो भी हिंदी में | 

ISRO क्या है?

ISRO क्या है?
heystudies.com

ISRO जिसका पूरा नाम- Indian Space Research Organization है | इसको सक्षेप में ISRO कहाँ जाता है | ISRO हमारे भारत देश की राष्टीय अंतरिक्ष एजेंसी है | ISRO का गठन 15 अगस्त 1969 को हुआ था, इसका मुख्यालय बैंगलोर में स्थित है | हमारे भारत देश में ISRO के कुल 6 मुख्य केंद्र है, और बाकि कई सारी एजेंसी, संस्थान है | ISRO में 17 हज़ार वैज्ञानिक कार्य करते है |

ISRO के इस समय चेयरमैन- Dr. S. Somanath है | ISRO का प्रमुख कार्य है, कि वो अपने देश भारत को अंतरिक्ष की तकनीक उपलब्ध कराएं | अंतरिक्ष सम्बन्धी पहेली को सुलझाना | नए-नए राकेट को लांच करना, नए-नए ग्रह और उपग्रह की खोज करना है | ISRO द्वारा ही मौसम का पुर्वनुमान, आपदा प्रबंधन उपकरण, भौगोलिक सुचना प्रणाली आदि कार्य किये जाते है |

ISRO द्वारा ही मानवरहित राकेट को चाँद पर जांच पड़ताल के लिए भेजा गया था, इस राकेट का नाम चंद्रयान 1 था | इस चंद्रयान में अपने इस मिशन को केवल 10 महीनो में पूरा कर दिया था | और इस मिशन से ही चाँद पर पानी की खोज हो पाई थी | यह एक बहुत ही बड़ी खोज थी, और इस खोज के बाद भारत देश दुनिया का पहला ऐसा देश बन गया, जिसने चाँद पर पानी ढूंढ निकाला था | 

Note :- अगर आप जाना चाहते है |

ISRO की Full Form क्या है |-

अब आप समझ गए होंगे, कि ISRO क्या है | लेकिन कई लोगों के मन में एक सवाल आता होंगा | कि आखिर ISRO का पूरा नाम क्या है | वो भी हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में | कई लोगों को ISRO का पूरा नाम नहीं पता | में आज उन लोगों को ISRO का पूरा नाम बताता हूँ | और उनके इस सवाल का जवाब देता हूँ | जिससे उन्हें ISRO की अच्छे से और पूरी तरीके से जानकारी हो संके | ISRO का पूरा नाम- Indian Space Research Organization है | और ISRO का पूरा नाम हिंदी में- भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन है | 

अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लग रही है, तो जुड़े रहिये हमारे साथ | हम आज आपको ISRO से सम्बंधित कई सारी जरूरी और मुख्य बातें बताएंगे | जिससे आपको ISRO के बारे में सभी और सही जानकारी मिल जाएँगी | आगे आपको बहुत ही मुख्य जानकारी दी जाएँगी, इस जानकारी को आप छोड़ मत देना | 

ISRO की कुछ मुख्य जानकारियां |-

अब आप ISRO के बारें में अच्छे से समझ गए होंगे, आइये अब हम बात करते है | ISRO की कुछ मुख्य जानकारी की | जैसे की इसकी स्थापना कब हुई थी, इसका मुख्यालय कहाँ है आदि जरूरी और मुख्य जानकारी आज आपको इस पोस्ट में मिलेंगी | तो जुड़े रहिये हमारे साथ | जिससे आप यह जरूरी जानकारी जानने से रह न जाएँ | ISRO हमारे भारत देश की राष्टीय अंतरिक्ष संस्थान है |

ISRO की स्थापना 15 अगस्त 1969 को हुई थी | तब ISRO का नाम- INCOSPAR- अंतरिक्ष अनुसंधान के लिए भारतीय राष्टीय समिति था | लेकिन बाद में इसका नाम ISRO रख दिया गया था | ISRO की स्थापना महान वैज्ञानिक डॉक्टर विक्रम साराभाई द्वारा की गयी थी और हमारे भारत देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने इसे भारत देश के विकास का अहम पहलु माना था | 

ISRO के मुख्यालय की बात की जाये, तो ISRO का मुख्यालय बैंगलोर में स्थित है | ISRO भारत के अंतरिक्ष विज्ञानं के रहस्य को मिटाने के लिए कार्य करता है | ISRO की निगरानी हमारे भारत देश के प्रधानमंत्री के द्वारा की जाती है | 

ISRO का इतिहास क्या है |-

अब आप ISRO क्या है, ISRO की Full Form क्या है | और ISRO से जुडी हुई सभी मुख्य जानकारी आपने हासिल कर ली है | अगर आप ISRO की और जानकारी हासिल करना चाहते हो | तो जुड़े रहिये हमारी पोस्ट के साथ | अब में आपको ISRO के इतिहास के बारे में बताऊंगा, ISRO का इतिहास बहुत ही अच्छा और रोचक रहा है | और ISRO हमारे भारत देश का गौरव है,  इसलिए ISRO की जानकारी सबको होनी ही चाहिए | जिससे हमे भी हमारे भारत देश पर और गर्व हो | आइये अब हम ISRO के इतिहास को जानते है | 

ISRO जिसका पूरा नाम- Indian Space Research Organization ( भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ) है | शुरुवात में इसका नाम- INCOSPAR- अंतरिक्ष अनुसंधान के लिए भारतीय राष्टीय समिति था | लेकिन बाद में इसका नाम ISRO रख दिया गया था | ISRO की स्थापना 15 अगस्त 1969 को हुई थी, और ISRO का मुख्यालय बैंगलोर में स्थित है | ISRO की स्थापना हमारे भारत देश के महान वैज्ञानिक जिनका नाम विक्रम साराभाई था | उनके द्वारा की गयी थी |

ISRO को अंतरिक्ष विभाग द्वारा नियंत्रित किया जाता है, ISRO द्वारा पहला उपग्रह 19 अप्रैल 1975 को लांच किया गया था, इस उपग्रह का पूरा नाम आर्यभट था | 1980 तक ISRO ने पूर्ण स्वदेशी सैटेलाइट बनाना भी प्रारम्भ कर दिया और उन्हें स्वयं लांच करना भी शुरू कर दिया था | ISRO ने पहले ही प्रयास में मंगलयान मिशन को पूरा कर लिया था | जिससे देश भर में भारत देश का नाम चारों और हो गया था |

यह प्रयास बहुत ही गौरवशील प्रयास था | और भारत पहले ही प्रयास में मंगल तक पहुंचने वाला पहला देश बन गया था | ISRO द्वारा 5 नवंबर 2013 को मंगलयान लांच किया गया था | और यह यान 24 सितम्बर 2014 को मंगल पहुंच गया था | ISRO द्वारा चंद्रयान 1 को लांच करके चाँद पर सबसे पहले पानी की खोज की थी | और भारत एकमात्र ऐसा देश था, जिसने सबसे पहले चाँद पर पानी की खोज की थी | ISRO द्वारा एक साथ 104 उपग्रह लांच करने का विश्व रिकॉर्ड है | आजतक किसी भी देश ने एक साथ इतने उपग्रह लांच नहीं किये है | ISRO ने ऐसा करके भारत देश का नाम को और भी बड़ा दिया | 

ISRO की क्या-क्या उपलब्धियां है |-

अब आप ISRO के बारे में सुब कुछ जान चुके हो, अब हम जानते है | कि ISRO की क्या-क्या उपलब्धियां है | यानि कि ISRO द्वारा ऐसे क्या-क्या कार्य किये गए है | जिसकी वजह से ISRO और हमारे देश का नाम रोशन हुआ है | हम आज ISRO की मुख्य उपलब्धियों के बारें में जानेंगे | आइये अब हम इसकी उपलब्धियों को जानते है | 

  • ISRO द्वारा पहला यान जो अंतरिक्ष में भेजा गया था, उस यान का नाम आर्यभट था | इस यान को सफलतापूर्वक रूप से 19 अप्रैल 1975 को लांच किया गया था | 
  • भारत एकमात्र ऐसा देश है, जो मंगल पर पहले ही प्रयास में पहुंच गया था | ISRO द्वारा मंगल पर एक यान 5 नवंबर 2013 को भेजा गया था, इस यान का नाम मंगलयान था | जो पहले ही प्रयास में 24 सितम्बर 2014 को मंगल पहुंच गया था | 
  • भारत एकमात्र ऐसा देश है, जिसने सबसे पहले चाँद पर पानी की खोज की थी | ISRO द्वारा चंद्रयान 1 को 22 अक्टूबर 2008 को लांच किया गया था | और यह भारत द्वारा भेजा गया पहला मानवरहित यान था | 
  • हमारा देश भारत एकमात्र ऐसा देश है, जिसने एक साथ 104 उपग्रहों को अंतरिक्ष में भेजा था | आजतक किसी भी देश ने इतने सारे उपग्रह एक साथ अंतरिक्ष में नहीं भेजे थे | भारत द्वारा यह वर्ल्ड रिकॉर्ड है, 104 उपग्रहों को एक साथ सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में भेजना | 
  • ISRO ने 1979 तक पूर्ण स्वदेशी सैटेलाइट बनाना भी प्रारम्भ कर दिया और उन्हें स्वयं लांच करना भी शुरू कर दिया था | 

यह कुछ उपलब्धियां है, ISRO द्वारा | आदि कई सारी उपलब्धियां है | जिससे ISRO ने हमारे भारत देश का नाम रोशन किया है | और ISRO पर हमे गर्व होना चाहिए, क्युकी ISRO द्वारा कईं ऐसे कार्य किये गएँ है | जो कोई और देश नहीं कर पायां है | 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top