GDP, GNP क्या होती है

GDP और GNP क्या होती है, GDP और GNP में क्या अंतर होता है |-

हेलो दोस्तों आप का स्वागत है, हमारी आज की इस पोस्ट में | हमारी आज की इस पोस्ट का विषय है | GDP, GNP क्या होती है, GDP और GNP में क्या अंतर होता है | हम आज इस विषय के बारे में जानेंगे | आपने कई जगह मोबाइल में, T.V में किसी न किसी को GDP और GNP शब्द बोलते हुए सुना होगा | या आपने किसी अख़बार या पत्र-पत्रिका में यह शब्द अवश्य पढ़ा होंगा |

लेकिन कई लोगो को नहीं पता है, कि GDP और GNP क्या होता है | और उन लोगों के मन में एक सवाल आता है.कि आखिर GDP और GNP होता क्या है | आइये में उन लोगों को उनके इस सवाल का जवाब देता हूँ | किसी भी देश की अर्थव्यवस्था उस देश के विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है | क्युकी देश की अर्थव्यवस्था जितनी अच्छी होंगी, देश उतना ज्यादा विकास करेंगा | देश की अर्थव्यवस्था को सही प्रकार से जानने के लिए कई बड़े-बड़े अर्थशास्त्रियों ने देश की अर्थव्यवस्था के लिए GDP और GNP शब्द की खोज की |

जिससे देश की अर्थव्यवस्था के बारे में सही-सहीं और आसानी से पता लगाया जा सके | आइये अब हम इन दोनों शब्द GDP और GNP के बारे में अच्छे से जानते है | जिससे आपको दोनों शब्द के बारे में अच्छे से पता लग संके | और GDP और GNP के बारे में कई बार बड़ी-बड़ी परीक्षा या किसी इंटरव्यू में भी पूछ लिया जाता है | जिस लिए आपको इन शब्दों के बारे में सहीं प्रकार से जानकारी होनी चाहिए | आएये अब हम इन दोनों शब्दों के बारे में सही प्रकार से जानते है | 

Note :- अगर आप जाना चाहते है |

GDP क्या होती है |-

आइये पहले हम जानते है, कि GDP क्या होती है | GDP हमारे देश के लिए बहुत जरूरी होती है, जिस देश की जितनी अच्छी GDP होंगी | उस देश की उतनी अच्छी अर्थव्यवस्था होंगी | GDP की गणना हर बार 1 वर्ष के अंतराल में होती है, यानि कि GDP की गणना हर वर्ष होती है | GDP राजनितिक सीमा के अंतर्गत होती है, यानि कि जो हमारे देश का है, लेकिन दूसरे देश में कार्य करता है | वो हमारी भौगोलिक सीमा से तो बाहर है, लेकिन वो हमारी राजनितिक सीमा में आता है, जैसे भारतीय विमान कंपनी Air India किसी भी बाहर देश में किसी को छोड़ने जाता है |

तो वो हमारे देश के अंतर्गत ही आता है | हमारे देश में जितनी भी वस्तु का उत्पादन होता है, और जितनी भी सेवाएं हमारे देश की तरफ से लोगो को दी जाती है | उन सभी वस्तु और सेवाओं के मूल्य को जोड़कर देश की GDP निकाली जाती है | जैसे हमारे देश में जितनी भी कंपनी है, जो कई वस्तुओं का उत्पादन करते है | जैसे कोई कंपनी कार बनाती है, या कोई कंपनी कपडे बनाती है, या कोई कंपनी मोबाइल आदि का निर्माण करती है | तो वो 1 वर्ष में जितने माल का उत्पादन करती है, ऐसी भारत देश की सभी छोटी-बड़ी कंपनी जितने माल का उत्पादन करती है, उन सभी माल के मूल्य को जोड़कर GDP निकाली जाती है |

जैसे- आप किसी मार्किट में जाते हो, और वहां आप पैसे देकर कुछ सामान खरीदते हो | जैसे- कपडे, जूते, सोने की अंगूठी आदि सामान जिसे आप स्पर्श कर सकते हो उसे हमारे देश की GDP में गिना जाता है | GDP में सेवाओं को भी जोड़ा जाता है, जैसे आप किसी विद्यालय में पढ़ने जाते हो | और उस विद्यालय में आप फीस जमा करते हो, और विद्यालय आकर पढ़कर चले जाते हो, इसी प्रकार आप रेल की टिकट लेकर रेल में सफर करके एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंच जाते हो | उसको भी हमारे देश की GDP में जोड़ा जाता है |

GDP में अंतिम मूल्य को जोड़ा जाता है, जैसे आप किसी शॉप पर मोबाइल लेने जाते हो, तो वो आपको मोबाइल देता है | न कि पार्ट्स की आप जोड़ते रहना यह मदरबोर्ड है, यह कैमरा है, यह डिस्प्ले है, यह बटन है, यह प्रोसेसर है | आप इसे जोड़ लेना आप इसके अलग-अलग पैसे नहीं देते, आप दुकान पर जाकर सीधे पूरा मोबाइल ले लेते हो | और उसके पुरे पैसे दे देते हो | इनको ही हमारे देश की GDP में जोड़ा जाता है, यानि कि हमारे देश में जितनी भी वस्तु का उत्पादन होता है, और जितनी भी सेवाएं दी जाती है |

उनके अंतिम मूल्य को 1 वर्ष के अंतराल में जोड़ा जाता है | जैसे – Amul कंपनी में 1 साल में 50 करोड़ रुपए कमाए और भारतीय रेलवे ने 150 करोड़ रुपए कमाए | तो इनको जोड़कर हमारे देश की GDP 200 करोड़ हो जाएँगी | और इसी प्रकार देश की सभी कंपनी का वर्ष भर के उत्पादन और सेवाओं के अंतिम मूल्य को जोड़कर ही देश की GDP निकली जाती है | अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लग रही है, तो जुड़े रहिये हमारे साथ | आगे आपको और भी कई सारी मुख्य और आश्चर्यजनक बातें जानने को मिलेंगी | अगर आपको और भी जानकारी हासिल करनी है, तो जुड़े रहिये हमारे साथ | 

GDP की Full Form क्या होती है?

अब आप GDP क्या होती है, यह तो समझ गए होंगे | अब हम बात करते है, कि GDP की Full Form क्या होती है | GDP की Full Form क्या होती है, यह सवाल कई लोगों का होता है | आज में उन सभी लोगों को उनके इस सवाल का जवाब देता हूँ | GDP की Full Form – Gross Domestic Product (सकल घरेलु उत्पाद) होती है | और जिस देश की GDP जितनी अधिक होंगी, वो देश उतना अधिक विकास कर पायेंगा |

उस देश में उतना ज्यादा उत्पादन होंगा, उतनी ज्यादा लोगो को नौकरी मिलेंगी | और उतनी ज्यादा बेरोज़गारी कम होंगी | और विदेशी कंपनी उस देश की और ज्यादा आकर्षित होती है, जिस देश की अर्थव्यवस्था अच्छी होती है, उन्हें वहां उतना ज्यादा मुनाफा होता है | और जिस की GDP जितनी ज्यादा होंगी | सरकार को उतना ज्यादा TAX मिलेंगा | और उस देश में उतनी बेरोज़गारी कम होंगी, क्युकी सभी कई कंपनी में कर्मचारियों की आवश्यकता होंगी | जिससे कई लोगो को नौकरी मिलेंगी | 

GNP क्या होती है |-

GNP में उन सभी कंपनियों की आय को जोड़ा जाता है, जो भारतीय है | जो किसी और देश की है, उन कंपनी की आय को इस देश में नहीं जोड़ा जाता है | जैसे आप किसी दूसरे देश में कार्य करते हो, आप वहां पर 5 करोड़ प्रतिवर्ष कमा रहे हो | जिसे आप अपने घरवालों के पास अपने देश भारत भेजते हो | तो उस पैसे को GNP में गिना जायेंगा | लेकिन उस पैसे को GDP में नहीं गिना जायेंगा | 

लेकिन अगर कोई विदेशी व्यक्ति भारत में आकर कार्य करता है, तो अपनी कमाई को वो अपने देश भेजता है | इसलिए उसकी कमाई को GDP में तो गिना जायेंगा, लेकिन GNP में नहीं गिना जायेंगा | इसी प्रकार कोई भारतीय कंपनी किसी दूसरे देश में जाकर कार्य करती है, तो उसकी आय को भारत की GDP में नहीं गिना जायेंगा | लेकिन उस आय को भारत की GNP में गिना जायेंगा | 

GNP की Full Form क्या है?

अब आप समझ गए होंगे, कि GDP क्या होती है | और GNP क्या होती है | और GDP और GNP हमारी देश की अर्थव्यवस्था के लिए कितनी अच्छी होती है और कितनी जरूरी होती है | आइये अब हम बात करते है, GNP की Full Form क्या होती है | GNP की Full Form- Gross National Product (सकल राष्टीय उत्पाद) होती है | 

GDP और GNP में क्या-क्या अंतर है |

GDP और GNP में क्या-क्या अंतर है |
heystudies.com

अब आप लोग GDP और GNP क्या होती है, इसके बारें में खूब अच्छे से समझ गए होंगे | आइये अब हम बात करते है, GDP और GNP में क्या-क्या अंतर होता है (gdp and gnp difference) | 

  • GDP में वह सभी उत्पादन और आय को जोड़ा जाता है, जो हमारे देश में हुआ है | चाहे वो भारतीय कंपनी द्वारा उत्पादित हो या विदेशी कम्पनी द्वारा | जबकि GNP में वो उत्पादन और आय को जोड़ा जाता है, जो हमारे देश भारत के है | किसी और देश के नहीं है | जैसे- कोई भारीय कंपनी अगर अपने देश में या किसी और देश में रहकर पैसे कमाती है, तो उसे भारत की GNP में गिना जायेंगा | और जो विदेशी कंपनी भारत आकर व्यापर कर रही है. उनकी आय को भारत की GNP में नहीं गिना जायेंगा | 
  • हमारे देश की भौगोलिक सीमा के अंतर्गत किया जाने वाला सभी उत्पादन और दी जाने वाली सभी सेवाओं के मूल्य को जोड़कर भारत देश की GDP निकाली जाती है, चाहे वह भारतीय कंपनी द्वारा किया जाने वाला उत्पादन हो या भारत मे रहकर किया जाने वाला किसी विदेशी कंपनी द्वारा उत्पादन हो | इसी प्रकार भारत देश के वो सभी लोग और कंपनी जो किसी और देश में रहकर पैसे कमाते है, या भारत में रहकर ही पैसे कमाते है | उनकी आय को भारत की GNP में गिना जाता है | 
  • GDP की गणना स्थान के आधार पर होती है, जबकि GNP भारत के नागरिकों के आधार पर होती है | 
  • GDP से देश की घरेलु अर्थव्यवस्था की ताकत के बारें में पता चलता है, जबकि GNP से देश की अर्थव्यवस्था में देश के निवासी द्वारा दिए जाने वाले योगदान के बारें में पता चलता है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top